Tumruka ji kon hai | tumruka ji ka naam kaise le

tumruka ji तो हेलो दोस्तों नमस्कार क्या आपके मन में भी बहुत लोगों की तरह tumruka ji को लेकर कुछ सावाल आ रहे हैं सवाल तो आएंगे ही जाहिर सी बात है अगर आपको इनके बारे में पहली बार पता चला है क्यों कि मुझे भी जब tumruka ji बारे में पहली बार पता चला था।

मुझे भी इनके बारे में कुछ भी पता नहीं था और मेरे मन में भी ऐसे बहुत सारे सवाल मन में आता था तुमरुका जी कौन है, तुमरुका जी के उपाय आदि जैसे सवाल आपके मन में भी आ रहे होंगे जिसके बारे में जानने के लिए आप यहां आए है तो आइए जानते हैं।

तुमरुका जी कौन है | Tumruka Ji Kaun Hai

tumruka ji ki photo
tumruka ji ki photo

Tumbruka Ji भगवान शिव के बहुत बड़े भक्त थे। तुमरूका जी का शरीर कैसा था और वह कैसे दिखते थे इसकी बात करें तो वह शरीर से तो मानव की तरह दिखते था, लेकिन जो उनका सर था वह घोड़े के सर जैसा था। तुमरुका जी नारद जी की भाँति ही हाथ में वीणा धारण करते थे। कहा जाता है कि तुमरुका जी ने शिव महापुराण की कथा देवी चंचला (Chanchala Devi) को सुनाई थी। Tumruka Ji के पिता का नाम कश्यप था और मां का नाम प्रधा था। Tumruka जी के 4 भाई भी थे।

tumruka ji ki photo
tumruka ji ki photo

तुमरुका जी की एक प्रचलित कथा है जिसमें बताया गया है कि कोई भी स्त्री जो गर्भवती नहीं हो रही है, उसे कई वर्ष हो गए हैं और उसे संतान नहीं प्राप्त हो रही है। तो एक बार भगवान शिव शंकर जी पर विश्वास करके रजस्वला धर्म के सातवें दिन दिन श्वेत आंकड़े की जड़ लेकर उस जड़ को भगवान शंकर जी के मंदिर में ले जाकर

तुमरुका जी का नाम लेकर 21 बार परिक्रमा करें और फिर उसके बाद अपना नाम और गोत्र बोलें और पति का नाम लें और शिव शंकर से विनती करें कि मेरे घर में भी एक संतान दें, ऐसा कर उस जड़ को मंदिर के अंदर अपनी कमर में लाल धागे में बांध दें। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में भगवान शंकर की कृपा से संतान की प्राप्ति होगी साथ ही आपका घर खुशियों से भर जाएगा।

तुमरुका जी किसके पुत्र थे | Tumruka Ji Kiske Putra The

tumruka ji ki photo
tumruka ji ki photo

Tumbruka Ji भगवान शिव के बहुत बड़े भक्त थे। तुमरूका जी शरीर कैसा था और वह कैसे दिखते थे इसकी बात करें तो वह उनका शरीर तो मानव की तरह दिखते था, लेकिन जो उनका सर था वह घोड़े के सर जैसा था। उनके हाथ में वीणा थी, जिससे वे संगीत बजाते थे, और वह शिव महा पुराण की कथाएं सुनाते थे। हम उन्हें Tumruka Ji के नाम से भी जानते हैं। उनके पिता का नाम कश्यप था और मां का नाम प्रधा था।

तुमरुका जी कौन से भगवान हैं?

तुमरुका जी शिव भक्त हैं शिव महापुराण की कथा सुनाते हैं और दिव्य संगीतकार है ।

भगवान शिव का पहला पुत्र कौन है?

भगवान शिव का पहला पुत्र भगवान कार्तिकेय हैं।

Leave a Comment