SDO full form in hindi | एसडीओ का फुल फॉर्म व कैसे बनें एसडीओ अधिकारी

 

SDO का फुल फॉर्म क्या है | SDO full form in hindi

SDO full form in hindi – आज के इस आर्टिकल हम सब SDO full form और SDO के बारे में पढ़ेंग क्योंकि बहुत से लोगों एवं छात्रों को SDO को लेकर कंफ्यूज होते हैं जैसे SDO kon hota hai, SDO ka kaam kay hota hai, sdo बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

आदि ऐसे और भी sdo से रिलेटेड बहुत सारे सवाल है जो ज्यादातर लोगों को पता नहीं होता है और वह इसके बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं क्योंकि बहुत से युवक sdo अधिकारी बनना चाहते हैं 

और एक ऊंचा पद का सरकारी आफिसर बनने का सपना हर किसी का होता है वैसे ही sdo पद भी काफी ऊंचा पद होता है जिसमें अच्छी सैलरी के साथ काफी अच्छी सरकारी सुविधाएं भी मिलती है और ऐसी नौकरी कौन नहीं पाना चाहता है 

लेकिन एक sdo अधिकारी बनना इतना आसान नहीं है इसके लिए बहुत पढ़ना पड़ता है और काफी मेहनत करना पड़ता क्योंकि समय के साथ कंपटीशन काफी बढ़ता जा रहा है लेकिन किसी नौकरी के बारे में जानने के लिए या उसकी तैयारी करने के लिए 

एक बार उसके बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए ताकि बाद में इससे संबंधित कोई प्रोब्लम ना हो What is Full Form of SDO in Hindi और sdo से संबंधित जानकारियों के बारे में अच्छे से जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।  

एसडीओ का फुल फॉर्म क्या है | SDO full form in hindi  

SDO ka full form या पूरा नाम “Sub Divisional Officer” होता है और SDO को हिंदी में “अनुविभागीय अधिकारी” एवं अनुमंडल पदाधिकारी कहा एवं जाना जाता है 

S – Sub 

D – Divisional 

O – Officer 

SDO meaning in hindi 

SDO का मतलब अनुविभागीय अधिकारी एवं अनुमंडल पदाधिकारी होता है SDO अपने विभाग का प्रमुख अधिकारी होता है 

SDO आफिसर कौन होता है | sdo in hindi

भारत देश के सभी विभागों में जैसे पुलिस विभाग, समाज कल्याण विभाग, बिजली विभाग, सिचाई विभाग आदि कई सारे विभागों में SDO यानी “Sub Divisional Officer” होते हैं जो उस विभाग का प्रमुख अधिकारी होते है 

और इस विभाग के सभी अन्य छोटे अधिकारी अपने काम के लिए SDO के प्रति जवाबदेह होते हैं और तहसीलदारों एवं विभिन्न अधिकारियों के सहायता की मदद से अपने क्षेत्र में सुधार कार्य की देख रेख करते हैं और इसके अतिरिक्त एक SDO आफिसर जनता की सिकायतो को भी सुनता है 

और जैसे पूरे जिले में जो एक DM की भुमिका होती है वहीं भुमिका हर एक विभाग के SDO की होती है और किसी भी विभाग के एक एसडीओ का मुख्य कार्य अपने विभाग के अंदर होने वाले सभी कार्यों को सुचारु रूप से देख रेख करना

साथ ही जितने भी काम विभाग में होते है उन सब कामो की जाँच करना और फाइलो को अच्छे से जाँचने का काम भी एसडीओ का होता है। एसडीओ विभाग के द्वारा होने वाले कार्यो को जाँच पड़ताल करना आदि यह सब कार्य जिम्मेदारियां हर एक विभाग के SDO आफिसर  के उपर होता है 

SDO आफिसर कैसे बनें 

देश के सभी राज्यों के सभी जिलों में एक SDO अधिकारी नियुक्त किया जाता है जो सरकारी प्रणाली सुचारू संचालन के लिए जिम्मेदार होते है SDO अधिकारी राज्य सरकार के अधीन कार्य करते है 

और इन अधिकारियों की नियुक्ति और चयन भी राज्य सरकार के द्वारा किया जाता है और अगर अब बात की जाए की SDO आफिसर कैसे बनें तो SDO आफिसर का सलेक्शन दो तरीके से किया जाता है 

पहला तरीका तो यह है जो अधिकारी पहले से ही SDO अधिकारी के नीचे के पद पर कार्य कर रहे होते हैं उन्हीं अधिकारियों में से किसी अधिकारी को सभी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद चयन करके SDO अधिकारी बना दिया जाता है 

और दूसरा तरीका यह है कि राज्य सरकार के द्वारा PCS (Public Service Commission) का एग्जाम कंडक्ट कराया जाता है और जितने भी अभ्यर्थी जो SDO अधिकारी बनना चाहते हैं 

तो वह सभी अभ्यर्थी PCS (Public Service Commission)  के परीक्षा में हिस्सा लेेतेे है और जो अभ्यर्थी PCS एग्जाम के सभी चरणों को Qualify करते हैं वहीं अभ्यर्थी SDO अधिकारी बनाएं जाते हैं 

SDO बनने के लिए शैक्षिक योग्यता 

SDO का फार्म भरने के लिए अभ्यर्थियों को किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से ग्रेजुएशन से पास कि डिग्री होनी चाहिए या फिर अभ्यर्थिय अगर ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहा है और फाइनल ईयर में हैं 

और last semester का पढ़ाई कर रहा है तो वह एसडीएम आप फार्म भर सकता है और इस एग्जाम में ग्रेजुएशन में किसी भी stream की खास requirement नहीं होती है 

बस अभ्यर्थी किसी भी BA, BSc, MSc, जैसे stream से पासिंग मार्क्स से पास होना चाहिए और वह SDM का फार्म भर सकता है 

SDO बनने के लिए आयु सीमा

SDO का फार्म भरने के लिए अभ्यर्थियों की आयु सीमा कम से कम 21 साल से लेकर 40 साल तक होना चाहिए और अगर category wise आयु सीमा की बात की जाए तो general category वाले अभ्यर्थियों की 

आयु सीमा 21 वर्ष से 40 वर्ष तक ही होनी चाहिए और OBC category वाले अभ्यर्थियों की आयु सीमा 21 वर्ष से लेकर 45 तक होनी चाहिए SC/ST category वाले अभ्यर्थियों की भी आयु सीमा 21 वर्ष से लेकर 45 वर्ष तक होनी चाहिए PWD category वाले अभ्यर्थियों की आयु 

सीमा 21 वर्ष से लेकर 55 वर्ष तक होनी चाहिए लेकिन आयु सीमा की छूट उन्हीं अभ्यर्थियों को मिलेगा जो उस राज्य के निवासी हैं तथा दूसरे राज्य के अभ्यर्थियों को कोई आयु सीमा की छूट मिलती है 

SDO exam के लिए syllabus 

SDO आफिसर बनने के आपको तीन चरणों की परीक्षाओं को पास करना होता है तब जाकर के आप SDO आफिसर के लिए select हो पाएंग और कुछ अभ्यर्थियों का सवाल यह भी होता है हम एक बार परीक्षा में फेल हो जाते हैं 

तो हम दोबारा परीक्षा दे सकते हैं या हम कितनी बार इस परीक्षा को दे सकते हैं तो इस परीक्षा को अभ्यर्थी up to age limit तक दे सकता है यानी कि अभ्यर्थी की आयु सीमा पुरा होने तक जितनी बार चाहें उतनी बार दे सकता है 

और आइए अब इस परीक्षा के syllabus के बारे में जान लेते हैं क्योंकि किसी परीक्षा की तैयारी करने से पहले उसके syllabus के बारे में एक बार अच्छे से जान लेना चाहिए SDO आफिसर के पद के लिए अभ्यर्थियों को तीन चरणों की परीक्षाओं को पास करना होगा ।

  • प्रारम्भिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • interview

प्रारम्भिक परीक्षा- 

 इस परीक्षा में कुल दो परीक्षाएं आयोजित कराई जाती है पहला पेपर है general studies 1, और दूसरा पेपर है general studies 2 

general studies 1

इस पेपर में कुल 150 प्रश्र पूछें जाते हैं जोकि कुल 200 अंकों के होते हैं और सभी प्रश्र बहुविकल्पीय होते हैं और इस पेपर को पूरा करने में 2 घंटे का समय दिया जाता है और इस पेपर में 1/3 का negative marking भी होता यानी प्रश्नों के हर एक ग़लत उत्तर पर 1 अंक काट लिए जाते हैं

general studies 2 

और इस पेपर में कुल 100 प्रश्न पूछे जोकि पूरे 200 अंकों के होते हैं और सभी प्रश्र बहुविकल्पीय होते हैं और इस पेपर को भी पूरा करने में 2 घंटे का समय दिया जाता है और इस पेपर में भी 1/3 का negative marking भी होता यानी प्रश्नों के हर एक ग़लत उत्तर पर 1 अंक काट लिए जाते हैं 

मुख्य परीक्षा में बहुत से पेपर कराएं जातें हैं  

general Hindi- 

इस पेपर में कुल 50 प्रश्र पूछें जाते हैं और इस पेपर को पूरा करने के लिए तीन घंटे का समय दिया जाता है और यह Qualifying paper होता है यानी इस पेपर को पास करने के बाद दूसरे पेपर को दिया जाता है

essay 

इस पेपर में कुल 3 खंड होते हैं और हर खंड में से एक-एक topic पर 700-700 शब्दों का निबंध लिखना होता है और हर निबंध 50-50 अंकों का होता है 

और इस पेपर को पूरा करने में 3 घंटे का समय दिया जाता है और आइए अब जानते हैं इन खंडों में किन किन topic पर प्रश्न पूछे जाते हैं
                                (क) खंड 
साहित्य और संस्कृति
सामाजिक क्षेत्र
राजनैतिक क्षेत्र 
                                (ख) खंड
विज्ञान पर्यावरण और आघोगिकी 
आर्थिक क्षेत्र
कृषि उघोग और व्यापार
                               (ग) खंड
राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम
प्राकृतिक आपदाएं, भूस्खलन, भूकंप, बाढ़, सुखा आदि 
राष्ट्रीय विकास योजनाएं और परियोजनाएं 

-general studies 1
-general studies 2
-general studies 3
-general studies 4 
-2 options paper : paper 1 paper 2   

interview – 

प्रारम्भिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद interview के लिए बुलाया जाता है और interview 200 माक्स का होता है जिसमें कई तरह के सवाल पूछे जाते और अभ्यर्थी को उसका सही सही जवाब देना होता है और interview लेने वाले आफिसरो को कॉन्फिडेंस के साथ यह यकीन दिलाना होता है कि आप SDM आफिसर के पद के लिए योग्य हैं और आप एक अच्छा SDM आफिसर बन सकता है 

एसडीओ का क्या काम होता है 

एक एसडीओ अधिकारी अपने विभाग का सबसे बड़ा अधिकारी होता है जिसके वजह से उस विभाग के सारे कार्यों कि जिम्मेदारी उस विभाग के एसडीओ अधिकारी के उपर होता है और उस विभाग के सभी छोटे बड़े 
अधिकारी अपने कार्य के प्रति जवाबदेह होते हैं और तहसीलदारों एवं विभिन्न अधिकारियों के सहायता से अपने क्षेत्र में सुधार कार्यो की देख रेख करते हैं और इसके अतिरिक्त एक SDO आफिसर जनता की सिकायतो को भी सुनता है 
और जैसे पूरे जिले में जो एक DM की भुमिका होती है वहीं भुमिका हर एक विभाग के SDO की होती है और किसी भी विभाग के एक एसडीओ का मुख्य कार्य अपने विभाग के अंदर होने वाले सभी कार्यों को सुचारु रूप से देख रेख करना
साथ ही जितने भी काम विभाग में होते है उन सब कामो की जाँच करना और फाइलो को अच्छे से जाँचने का काम भी एसडीओ का होता है।

एसडीओ अधिकारी वेतन | sdo in hindi

अब हमने SDO आफिसर के बारे में इतना कुछ तो जान लिया और समझ भी गए लेकिन बहुत से लोगों के मन यह सवाल आता है कि एक SDO आफिसर की महीने की सैलरी कितनी मिलती है 
तो हम आपको बता दें कि एक SDO आफिसर को महीने का 51,000 हजार रुपए से लेकर 70,000 हजार रुपए के बीच में मिलता है 

FAQ – People also ask 

Q.1 SDO full form in hindi? 

— SDO ka full form hindi में अनुविभागीय अधिकारी एवं अनुमंडल पदाधिकारी होता है.

Q.2 SDO full form in marathi? 

— SDO ka full form marathi में उपविभागीय अधिकारी व उपविभागीय अधिकारी  होता है. 

Q.3 SDO का कार्य क्या होता है?

— एक एसडीओ अधिकारी अपने विभाग का सबसे बड़ा अधिकारी होता है जिसके वजह से उस विभाग के सारे कार्यों कि जिम्मेदारी उस विभाग के एसडीओ अधिकारी के उपर होता है.

Conclusion – SDO full form in hindi  

इस आर्टिकल में हमने SDO अधिकारी के पद के बारे में पूरे विस्तार पढ़ा जैसे कि SDO full form in hindi, SDO आफिसर कौन होता है, 

SDO आफिसर कैसे बनें, SDO बनने के लिए शैक्षिक योग्यता, SDO बनने के लिए आयु सीमा, आदि ऐसे और भी SDO से रिलेटेड बहुत सारी जानकारियों के बारे में पढ़ा और हमें पूरी उम्मीद है कि आपने इस आर्टिकल को पूरा पढ़ा होगा और इस आर्टिकल को पूरा पढ़ 
के SDO “Sub Divisional Officer” के बारे में अच्छे  से जान गए होंगे और अगर आप इससे संबंधित और भी कुछ जानना चाहते हैं तो हमें कमेंट में लिखकर जरूर बताएं धन्यवाद।

Leave a Comment