RAM & ROM full form in hindi | रैम का फुल फॉर्म क्या है

रैम का फुल फॉर्म क्या है । Ram full form in hindi

Ram full form in hindi – Ram का नाम तो आपने सुना ही होगा और इसे जानते भी होंगे अगर कोई व्यक्ति स्मार्टफोन खरीदने जाता है तो वह यह सबसे पहले जरूर चेक करता है कि उस स्मार्टफोन में कितना GB Ram है क्योंकि उसे भले ही ram के बारे में कुछ ज्यादा जानकारी ना हो लेकिन वह यह जानता है 

कि स्मार्टफोन में जितना ज्यादा GB Ram होगा उतना अच्छा है और उतने ही अच्छे से स्मार्टफोन चलेगा और इसमें High quality वाले software भी अच्छे से चलेंगे। अगर आपको ram के बारे में कुछ ज्यादा जानकारी नहीं है 

और आप रैम के बारे में पूरी जानकारी जानना चाहते हैं 
तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें इसमें हमने बताया है 

की Ram full form in hindi, ram kay hai, ram kaam kaise Karta hai और ram से संबंधित बहुत सारी जानकारियों के बारे में पढ़ेंगे। 

रैम का फुल फॉर्म क्या है । Ram full form in hindi

 Ram ka full form या ram का पूरा नाम Random Access Memory होता है ram कम्प्यूटर का एक अस्थाई मेमोरी होता है और ram इन सभी कम्प्यूटिंग डिवाइसों में होता है 

जैसे कम्प्यूटर, डेस्कटॉप, लेपटॉप, स्मार्टफोन, टेबलेट, स्मार्ट टीवी जैसे डिवाइसों में होता हैं और मुख्य रोल अदा करता क्योंकि इन डिवाइसों में जितना ज्यादा ram होगा उतना ज्यादा तेजी से ऑपरेटिंग सिस्टम इन डिवाइसों को चलने में मदद करती है 

वहीं अगर आपके स्मार्टफोन या कम्प्यूटर का ram कम होता है तो बड़े ऐप्स या साफ्टवेयर का इस्तेमाल करते समय मोबाइल या कम्प्यूटर हैंग करने लगता है  इन डिवाइसों को हैंग करने का मुख्य कारण  रैम का कम होना होता है 

इसे भी पढ़ें। 

UPC का फुल फॉर्म क्या है

CPU का फुल फॉर्म क्या है

CD का फुल फॉर्म क्या है

TC का फुल फॉर्म क्या है

CCC का फुल फॉर्म क्या है

रैम कैसे काम करता है| Ram kaise Kam Karta hai 

रैम कुछ इस प्रकार से काम करता है अगर आप मोबाइल या पिसी में कोई साफ्टवेयर इंस्टॉल करते हैं तो पर वह आपके डिवाइस के रेम में नहीं बल्कि डिवाइस के Harddisk में स्टोर होता है क्योंकि रैम तो अस्थाई मेमोरी होता है लेकिन जब आप कम्प्यूटर में कोई कार्य करने जाते हैं 

तब कम्प्यूटर का आपरेटिंग सिस्टम Harddisk से डाटा को ram में transfer करता है डाटा processing करने के लिए। जब आप कम्प्यूटर पर कुछ रन करते हैं तो उसका तेजी से प्रोसेसिंग करके input आपको मिलता है क्योंकि वह कार्य रैम पर हो रहा होता है ऑपरेटिंग सिस्टम रैम पर डाटा प्रोसेस करता है ना कि उसे स्टोर करके रखता है मान लीजिए आप अपने कम्प्यूटर पर कार्य कर रहे हैं 

और उसे save करना रह जाएं तभी अचानक बिजली चली जाए या आपका कम्प्यूटर बंद हो जाए तो आपका फाइल save किए बिना कट जाएगा क्योंकि रैम उस डाटा को कभी तक रन करता है जब तक वह फाइल ओपेन रहतीं हैं फाइल बंद होने के होने के बाद ऑपरेटिंग सिस्टम रैम में से डाटा को delete कर देता है 

रैम के कितने प्रकार हैं

ram दो प्रकार के होते हैं 1. SRAM 2. DRAM यह  दोनों प्रकार के रैम अलग प्रकार से काम करते हैं 
  • 1. SRAM 
  • 2. DRAM   

RAM के अन्य फुल फॉर्म 

RAM Royal Air Maroc
RAM Rolling Airframe Missile
RAM Royal Academy of Music
RAM Residents Action Movement
RAM Reliability, Availability, and Maintainability
RAM Reverse Annuity Mortgage
RAM Los Angeles Rams
RAM Random Access Machine
RAM Real Audio Media
RAM RealAudio Metafile
RAM Republican Attack Machine
RAM Relationship Asset Management
RAM Rechargeable Alkaline Manganese
RAM Rectangular Approximation Method
RAM Royal Arch Mason
RAM Round AMount
RAM Reticular Action Model
RAM Royal Appliance Manufacturing Company
RAM Removing A Mistake
RAM Reading About Memory

ROM का फुल फॉर्म क्या है | ROM full form in hindi 

ROM ka full form (read only memory) होता है rom के memory स्टोर डाटा को परिवर्तित या रिस्टोर नहीं किया जा सकता है उन्हें बस read किया जा सकता है 

रोम क्या है | ROM kay hai 

ROM कंम्पयूटर का बहुत ही मुख्य भाग है या कहा जाए तो यह कंम्पयूटर का दिमाग होता है जो कंम्पयूटर का सभी डेटा स्टोर करके रखता है जिसे हम जब चाहे तब कंम्पयूटर से निकाल कर देख सकें ROM एक चिप की तरह होता है 

जिसे कंम्पयूटर के motherboard में लगाई जाती है जो डाटा स्थाई रूप से स्टोर करके रखती है rom एक तरह का non voletaile memory होता है जैसे कंम्पयूटर का अचानक से पावर सप्लाई बंद हो जाता है 

तो rom के डाटा को कोई नुक्सान नहीं होता है मतलब rom में स्टोर डाटा delete नहीं होता है rom कंम्पयूटर को स्टार्ट करने और वर्किंग मोड में लाने में मुख्य भूमिका निभातीं है rom के मदद से ही कंम्पयूटर फास्ट लोड होता है और सभी साफ्टवेयर को तेजी से रन करता है 

rom के memory स्टोर डाटा को परिवर्तित या रिस्टोर नहीं किया जा सकता है उन्हें बस read किया जा सकता है इसलिए तो इसे read only memory कहा जाता है 

और rom memory का इस्तेमाल formwere software को install करने के लिए भी किया जाता है formwere software को तब install किया जाता है जब कंम्पयूटर के हाडवेयर फैक्ट्री में 

बनाए जाते हैं इसलिए इस साफ्टवेयर को हार्डवेयर को चलाने वाला साफ्टवेयर भी कहा जाता है और इसी साफ्टवेयर को rom में भी install किया जाता है जिससे सभी डिवाइस को एक दूसरे के साथ communicate और interact करने दिशा निर्देश मौजूद होते हैं 

rom का इस्तेमाल सिर्फ कंम्पयूटर के डिवाइस में ही नहीं किया जाता है बल्कि अन्य कई बुनियादी डिवाइसों में किया जाता है जैसे कि TV, Washing machine, digital watch, video games, robot आदि में इस्तेमाल किया जाता है और कंम्पयूटर में ROM के मेमोरी का इस्तेमाल नहीं किया जाता है 

बल्कि ROM के अलावा Ram, secondary memory का भी इस्तेमाल किया जाता है Ram का कंम्पयूटर डिवाइस का temporary memory होता है क्योंकि जब तक कंम्पयूटर का पावर आन रहता है तब तक डाटा Ram में स्टोर रहता है और जैसे ही कंम्पयूटर सिस्टम का पावर बंद होता है Ram में स्टोर डाटा delete हो जाता हैं 

और Ram खाली हो जाता है लेकिन ROM में ऐसा बिल्कुल नहीं होता है कंम्पयूटर सिस्टम का पावर बंद होता है पर भी ROM में  स्टोर डाटा सेफ और सुरक्षित रहता है ROM और RAM कंम्पयूटर का main memory होता है और external memory secondary memory  होता हैै और secondary memory में स्टोर किए गए

डाटा भी permanent होकर रहते हैं और सुरक्षित रहते हैं और मेन मेमोरी कि तुलना में secondary memory  की capecity काफी अधिक होती है Hard disk, CD, pen drive, आदि यह सब secondary memory मे आतें हैं

ROM kaise kaam karta hai 

ROM एक छोटे-से Chip के आकार का होता है जो CPU और motherboard से जुड़ी होती है और का इस्तेमाल मुख्य रूप से स्टोरेज के लिए किया जाता है 

जिसके user कुछ भी स्टोर करके रख सकते थे जैसे कि Software, Documents, audio, video files, और एक permanent memory है जहां से user कभी भी स्टोर किए गए डाटा access कर सकते हैं 

ROM सिस्टम को स्टार्ट करने में user कि मदद करता है और जब कोई user सिस्टम को ओपन करता है तब सिस्टम किसी साफ्टवेयर को चलाने के लिए सिस्टम ROM से डाटा access करता है 

और RAM कि मदद से साफ्टवेयर काम करता है और user वापस से साफ्टवेयर को बंद करता है तब RAM से सारा डाटा delete होकर वापस ROM में चला जाता है और users अपने सिस्टम में जितने भी images, photos, video को डाउनलोड करते हैं वह सभी ROM में जाकर स्टोर हो जाते हैं 

ROM के कितने प्रकार हैं? 

ROM को मुख्य रूप से तीन हिस्सों में बांटा गया है
1. PROM
2. EPROM 
3. EEPROM 

ROM के अन्य फुल फॉर्म  

ROM RFID On Metal
ROM Return On Margin
ROM Risk Of Mortality
ROM Rome, Italy
ROM Romany
ROM Royal Ontario Museum
ROM ROMisch
ROM Rough Order of Magnitude
ROM Rupture of membranes
ROM Register Of Merit
ROM Refuel On the Move
ROM Romberg test
ROM Regional Oxidant Model
ROM Registry Of Marriages
ROM Right Or Maybe
ROM Rio Algom, LTD.
ROM Read Only Meaning
ROM Reception and Onward Movement
ROM Read Or Memorize
ROM Range Of Motion

FAQ – People also ask  

Q.1 RAM full form in hindi?  

— RAM ka full form hindi में एक अस्थाई मेमोरी होता है.

Q.2 RAM full form in english?  

— RAM ka full form English में Random Access Memory होता है.

Conclusion – Ram full form in hindi

आज के इस आर्टिकल में आपने Ram से संबंधित बहुत सारी जानकारियों के बारे में पढ़ा जैसे कि Ram kay hai, Ram full form in hindi, Ram ke kitne prakar hai आदि 

और भी ram से संबंधित बहुत सारी जानकारियां के बारे में पढ़ा और हमेंं यह उम्मीद हैै कि आपने इस आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ा होगा और इस आर्टिकल को पूरा पढ़के आपको 

 रैम से संबंधित जानकारियों के बारे में जान गए होंगे अगर आप ram full form in hindi या Ram से संबंधित और भी कुछ जानना चाहते हैं या इससे रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट में लिखकर जरूर बताएं। 

Leave a Comment