MA full form in hindi | एमए का फुल फॉर्म क्या है

MA full form in hindi – हेलो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम एमए (MA) से संबंधित बहुत सारी जानकारियों के बारे में पढ़ेंगे क्योंकि बहुत से छात्र इंटर कि पढ़ाई करने के बाद वह किसी कारण से उच्च शिक्षा की पढ़ाई नहीं कर सकते हैं 

तब ज्यादातर छात्र ग्रेजुएशन की पढ़ाई करते हैं लेकिन उनमें से ज्यादातर छात्रों को तो MA का फुल फॉर्म क्या है पता नहीं होता है और वह इंटरनेट पर MA के बारे में MA के फुल फॉर्म के बारे में सर्च करने लगते हैं 

क्या आपको भी MA और Ma ka full form के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं है और इसके बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ें इस आर्टिकल में एमए (MA) के बारे में पूरे विस्तार से जानकारियां दी गई है 

एमए का फुल फॉर्म क्या है | MA full form in hindi 

Ma ka full form “Master of Arts” होता है जिसे हिंदी में भाषा में “मास्टर ऑफ आर्ट्स” कहा जाता है  

M – Master 

A – Art’

एमए (MA) क्या है | M.A. का मतलब क्या है

MA का पूरा नाम “Master of Arts” होता है ma ग्रेजुएशन की मास्टर डिग्री होती है इस कोर्स कि पढ़ाई डायरेक्ट नहीं किया जा सकता है इस कोर्स कि पढ़ाई करने से पहले BA कि पढ़ाई करनी पड़ती है 

जोकि पूरे 3 साल का कोर्स होता है उसके बाद मास्टर डिग्री प्राप्त करने के लिए MA का कोर्स करना पड़ता है और एमए (MA) का कोर्स 2 साल का होता है 

एमए (MA) कोर्स को करने के लिए योग्यता 

MA कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थियों को बहुत ज्यादा योग्यता कि जरूर नहीं है MA कोर्स की पढ़ाई करने से पहले अभ्यर्थियों को BA कि पढ़ाई करनी पड़ती है 

जोकि पूरे 3 साल का कोर्स होता है उसके बाद मास्टर डिग्री प्राप्त करने के लिए MA का कोर्स करना पड़ता है और MA का कोर्स 2 साल का होता है 

एमए (MA) कोर्स को करने के लिए प्रवेश प्रक्रिया

MA कोर्स को करने के लिए किसी प्रकार कि प्रवेश परीक्षा नहीं होती है और होती भी है तो कुछ बड़े बड़े विश्वविद्यालय में ही होती है वैसे ज्यादातर कालेजों में बिना किसी प्रवेश 

परीक्षा के सिर्फ जरूरी डाक्यूमेंट्स के साथ और BA में कम से कम 45% के साथ पास होना चाहिए जिसके बाद बहुत ही आसानी से डायरेक्ट किसी भी प्राइवेट या गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन हो जाता है   

एमए (MA) कोर्स को करने में फीस कितना लगता है 

MA ग्रेजुएट कोर्स को गवर्मेंट कालेज एवं प्राइवेट कालेज इन दोनों से किया जा सकता है अगर आप प्राइवेट कालेज से MA ग्रेजुएट कोर्स को करते हैं तो वहां गवर्मेंट कालेज के मुकाबले फीस के पैसे थोड़े ज्यादा लगते हैं प्रतिवर्ष के फीस के पैसे 8 हजार रुपए से लेकर 12 हजार रुपए तक लगते हैं 

और वहीं अगर बात की जाए गवर्मेंट कालेज की तो MA ग्रेजुएट कोर्स को करने के लिए प्रतिवर्ष के 4 हजार रुपए से लेकर 8 हजार रुपए तक लगते हैं हालांकि की यह बताये हुए फिस के पैसे एकदम सटीक नहीं है क्योंकि हर राज्यो के कालेजों के हिसाब से फीस के पैसे में थोड़ा कम या ज्यादा का अंतर हो सकता है 

भारत के टॉप महाविद्यालय जहां MA कि पढ़ाई कि जाती है  

  • भापर कॉलेज
  • भवानीपुर अंचलिक कॉलेज
  • बिकली कॉलेज
  • बिलासी पैरा कॉलेज
  • बॉम्बे टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज
  • हरियाणा की केन्द्रीय विश्वविद्यालय
  • चाडुवार कॉलेज
  • चंद्रकांत रामवती देवी आर्य महिला पी.जी. कॉलेज
  • चौधरी देवी लाल विश्वविद्यालय
  • चेतराम शर्मा कॉलेज ऑफ एजुकेशन
  • इलाहाबाद विश्वविद्यालय
  • आंध्र विश्वविद्यालय
  • असम विश्वविद्यालय
  • बी.पी. चालाह कॉलेज
  • बागधार बारहमा किशन कॉलेज
  • बनस्थली विश्वविद्यालय
  • बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय
  • बरनगर कॉलेज
  • भारतीय मुक्ता विद्यापति (बीएमवी) 

Conclusion – एमए (MA) full form in hindi 

इस आर्टिकल में हमने एमए (MA) कोर्स के बारे में पूरे विस्तार से पढ़ा जैसे कि MA kay hai, MA full form in hindi, MA कोर्स को करने के लिए योग्यता, MA कोर्स को करने के लिए प्रवेश प्रक्रिया, और ऐसे और भी MA कोर्स से संबंधित
बहुत सारी जानकारियों के बारे में भी पढ़ा और हमें उम्मीद है कि आपने भी इस आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ा होगा और इस आर्टिकल को पूरा पढ़के आपको एमए (MA) कोर्स के बारे में पूरी जानकारियां प्राप्त हो गई होंगी ।

Leave a Comment