DFO full form in hindi | DFO अधिकारी कैसे बनें?

 DFO full form in hindi – आज के इस आर्टिकल में हम DFO का full form और DFO से संबंधित जरूरी जानकारियों के बारे में पढ़ेंगे DFO या DFO आफिसर का नाम अक्सर लोगों को सुनने को मिल जाता है 

वही बहुत से लोगों को इसके बारे में बता है कि DFO वन विभाग का अधिकारी होता है लेकिन बहुत बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो DFO का नाम पहली बार सुनते हैं तो उन लोगों को DFO का फुल फॉर्म या मतलब नहीं पता होता है 

और वह इसके बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं और बहुत से अभ्यर्थी DFO अधिकारी बनना चाहते हैं वह जानना चाहते है DFO अधिकारी कैसे बने, DFO अधिकारी बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए 

आदि DFO से संबंधित और भी जरूरी जानकारियों के बारे में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल पर बने रहे और इस आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ें इस आर्टिकल में DFO full form और DFO से संबंधित सभी जरूरी जानकारियां दी गई है 

DFO full form in hindi 

DFO full form in hindi

DFO का full form Divisional Forest Officer होता है और DFO को हिंदी में संभागीय वन अधिकारी कहते हैं 

D – Divisional

F – Forest

O – Officer 

इसे भी पढ़ें। 

IAS का फुल फॉर्म क्या है

SDO का फुल फॉर्म क्या है

SHO का फुल फॉर्म क्या है

SDM का फुल फॉर्म क्या है

DFO कौन होता है 

DFO का पूरा नाम Divisional Forest Officer होता है यह वन विभाग का बहुत ही जिम्मेदारी वाला पद होता है जैसे हर एक क्षेत्र के हर एक विभाग के हर एक एरिया में एक हेड आफिसर होता है 

जो उस एरिया में अपने से संबंधित कार्यों की रिपोर्टिंग आदि करता है ठिक वैसे ही वन विभाग के हर एक ऐरिया में एक DFO अधिकारी होता है 

प्रभागीय वन अधिकारी का मुख्य रूप से वन संसाधनों और वन में मौजूद जानवरो का संरक्षण करने की जिम्मेदारी होती है और इस बात का भी ध्यान अच्छी तरह से दिया जाता है कि कोई अवैध 

तरीके जंगल के पेड़ों काट तो नहीं रहा है या जंगल के जानवरों को कोई नुक्सान तो नहीं पहुंचाया जा रहा है और समय-समय पर जंगलों का रिपोर्टिंग करना आदि

 इसके अलावा वन प्रभाग में जितने भी कर्मचारी कार्य करते है उनका नेतृत्व और उन पर नियंत्रण करना भी DFO की जिम्मेदारी होती है। 

प्रभागीय वन अधिकारी किसी भी तरह के पर्यावरणीय कार्यो और वन्यजीव के संरक्षण से जुड़े कार्यो के प्रबंधन के लिए अपनी अहम भूमिका निभाता है। 

DFO के लिए शैक्षिक योग्यता 

DFO पद के लिए होने वाली परीक्षा को देने के लिए अभ्यर्थियों ग्रेजुएशन पास होना चाहिए लेकिन कुछ चुनिंदा stream से जैसे 

कि Forestry, agriculture, horticulture, environmental, zoology, botany इन जैसे stream से अभ्यर्थियों को ग्रेजुएशन होना जरूरी है 

DFO के लिए आयु सीमा 

और अगर बात करें कि DFO अधिकारी पद के लिए परिक्षा को देने वाले अभ्यर्थियों की आयु सीमा की क्या criteria रखी गई है तो  

General category वाले candidate की आयु सीमा कम से 21 वर्ष से लेकर 30 वर्ष तक होनी चाहिए 

OBC category वाले candidate की आयु सीमा में 3 वर्ष की छुट दी जाती है यानी OBC category वाले candidate की आयु सीमा कम से कम 21 वर्ष से लेकर 33 वर्ष तक होनी चाहिए 

SC/ST category वाले candidates की आयु सीमा में 5 वर्ष तक की छूट दी जाती है SC/ST category वाले candidate की आयु सीमा कम से कम 21 वर्ष से लेकर 35 वर्ष तक होनी चाहिए

DFO के लिए शारीरिक योग्यता  

DFO अधिकारी पद के लिए परिक्षा को देने वाले अभ्यर्थियों के लिए शारीरिक योग्यता के लिए कुछ criteria रखी गई है जिसको पूरा करने के बाद ही अभ्यर्थी 

DFO अधिकारी के पद के लिए होने वाली परीक्षा के लिए legible हो सकतें हैं जिसमें अभ्यर्थियों की ऊंचाई को मापी जाती है जिसमें 

male candidates की लम्बाई 163cm होनी चाहिए और Cheast यानी सीना 84cm होना चाहिए

female candidates की लम्बाई 150cm होनी चाहिए 

Attempt 

बहुत अभ्यर्थियों के मन में यह सवाल अक्सर आता है कि अगर पहली बार परीक्षा देने पर अच्छे अंकों पास नहीं हो पाते हैं तो अभ्यर्थियों इस परिक्षा को कितनी बार दे सकते हैं 

या इस परिक्षा में कितनी बार बैठ सकते हैं तो इसके लिए भी सरकार द्वारा नियम बनाए गए हैं 

General category वाले candidate DFO के पद के लिए होने वाली परीक्षा को 6 बार दे सकते हैं 

और OBC category वाले candidate DFO के पद के लिए होने वाली परीक्षा को 9 बार दे सकते हैं 

SC/ST category वाले candidate DFO के पद के लिए होने वाली परीक्षा के लिए no limit होता है 

यानी SC/ST category वाले candidate इस परिक्षा को सरकार द्वारा रखीं गई आयु सीमा पूरा होने तक जितनी बार चाहें उतनी बार दे सकते हैं 

General category के handicap candidates DFO के पद के लिए होने वाली परीक्षा को 9 बार दे सकते हैं  

OBC/SC/ST category के handicap candidates DFO के पद के लिए होने वाली परीक्षा के लिए no limit होता है यानी OBC/SC/ST category 

वाले candidate इस परिक्षा को सरकार द्वारा रखीं गई आयु सीमा पूरा होने तक जितनी बार चाहें उतनी बार दे सकते हैं 

DFO के लिए UPSC का एग्जाम pattern

DFO आफिसर के पद के लिए upsc के परीक्षा को क्वालीफाइंग करना होना और आइए अब हम जान लेते हैं UPSC के एग्जाम 

pattern के बारे में और इसके syllabus को भी UPSC के एग्जाम में तीन चरणों की परीक्षाओं को आयोजित कराया जाता है 

  1. प्रारम्भिक परीक्षा
  2. मुख्य परीक्षा
  3. interview   

प्रारम्भिक परीक्षा

प्रारम्भिक परीक्षा-  इस परीक्षा में कुल दो परीक्षाएं आयोजित कराई जाती है पहला पेपर है general studies 1, और दूसरा पेपर है general studies 2 

-general studies के पेपर में कुल 150 प्रश्र पूछें जाते हैं जोकि कुल 200 अंकों के होते हैं और सभी प्रश्र बहुविकल्पीय होते हैं और इस पेपर को पूरा करने में 2 घंटे का समय दिया जाता है और इस पेपर में 1/3 का negative marking भी होता यानी प्रश्नों के हर एक ग़लत उत्तर पर 1 अंक काट लिए जाते हैं

-general studies 2  और इस पेपर में कुल 80 प्रश्न पूछे जोकि पूरे 200 अंकों के होते हैं और सभी प्रश्र बहुविकल्पीय होते हैं और इस पेपर को भी पूरा करने में 2 घंटे का समय दिया जाता है और इस पेपर में भी 1/3 का negative marking भी होता यानी प्रश्नों के हर एक ग़लत उत्तर पर 1 अंक काट लिए जाते हैं 

मुख्य परीक्षा

इस परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं जिसमें से केवल 2 पेपर क्वालीफाइंग होते हैं और बाकी के 7 पेपरों के अंकों को अंतिम चरण के सूची में जोड़ा जाता है 

-general Hindi इस पेपर में कुल 50 प्रश्र पूछें जाते हैं और इस पेपर को पूरा करने के लिए तीन घंटे का समय दिया जाता है और यह Qualifying paper होता है यानी इस पेपर को पास करने के बाद दूसरे पेपर को दिया जाता है

-essay 

इस पेपर में कुल 3 खंड होते हैं और हर खंड में से एक-एक topic पर 700-700 शब्दों का निबंध लिखना होता है और हर निबंध 50-50 अंकों का होता है 

और इस पेपर को पूरा करने में 3 घंटे का समय दिया जाता है और आइए अब जानते हैं इन खंडों में किन किन topic पर प्रश्न पूछे जाते हैं

                                (क) खंड 
साहित्य और संस्कृति
सामाजिक क्षेत्र
राजनैतिक क्षेत्र 
                                (ख) खंड
विज्ञान पर्यावरण और आघोगिकी 
आर्थिक क्षेत्र
कृषि उघोग और व्यापार
                               (ग) खंड
राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम
प्राकृतिक आपदाएं, भूस्खलन, भूकंप, बाढ़, सुखा आदि 
राष्ट्रीय विकास योजनाएं और परियोजनाएं 
-general studies 1
-general studies 2
-general studies 3
-general studies 4 
-2 options paper : paper 1 paper 2    

interview 

प्रारम्भिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद interview के लिए बुलाया जाता है और interview 200 माक्स का होता है 

जिसमें कई तरह के सवाल पूछे जाते और अभ्यर्थी को उसका सही सही जवाब देना होता है और interview के बाद मैरिट लिस्ट जारी की जाती है जिसके आधार पर अभ्यर्थियों का चयन किया जाता है   

FAQ – People also ask 

Q.1 DFO full form in hindi? 

ANS-  DFO ka full form hindi में संभागीय वन अधिकारी होता है.

Q.2 DFO full form in english? 

ANS- DFO ka full form English में Divisional Forest Officer होता है.

Conclusion – DFO full form in hindi 

आज के इस आर्टिकल में हम सबने DFO से संबंधित बहुत सारी जानकारियों के बारे में पूरे विस्तार से पढ़ा जैसे कि DFO कौन होता है, DFO full form in hindi , DFO के लिए शैक्षिक योग्यता, DFO के लिए आयु सीमा, आदि 

ऐसे और भी DFO से संबंधित बहुत सारी जानकारियों के बारे में अच्छे से पढ़ा और हमें यह पूरी उम्मीद है कि आपने भी इस आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ा होगा और इस आर्टिकल को पूरा पढ़के आपको 

DFO से संबंधित सभी जानकारियों के बारे में अच्छे से जान गए होंगे अगर आप DFO full form या DFO से संबंधित बहुत भी कुछ जानना चाहते हैं या इससे रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट में लिखकर जरूर बताएं धन्यवाद

Leave a Comment