Brics Full form in hindi | ब्रिक्स का मतलब क्या होता है

 

Brics का फुल फॉर्म क्या है | Brics Full form in hindi

Brics Full Form In Hindi – हेलो दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हम Brics और brics ka full form  के बारे में पढ़ेंगे क्योंकि Brics के बारे में अक्सर G.K के किताब में या अन्य किसी एग्जामो में पुछा जाता है 

और ज्यादातर लोगों को इसके बारे में पता नहीं होता है और बहुत से ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने Brics का नाम तो सुना है लेकिन वह इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं और क्या आप भी उन्हीं लोगों में से हैं और आपको नहीं भी पता है 

कि Brics kay hai, Brics Full Form In Hindi आदि Brics के बारे में अच्छे से जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें इस आर्टिकल में Brics के बारे में पूरे बिस्तार से बताया गया है 

Brics का फुल फॉर्म क्या है | Brics Full form in hindi

Brics ka full form या Brics का पूरा नाम कुल 5 देशों से मिलकर बना है BRAZIL, RUSSIA, INDIA, CHINA, SOUTH AFRICA 

B – BRAZIL                       ब्राजील

R – RUSSIA                       रसिया

I – INDIA                           इंडिया

C – CHINA                        चाइना

S – SOUTH AFRICA         साउथ अफ्रीका 

इसे भी पढ़ें। 

JIO का फुल फॉर्म क्या है?

JCB का फुल फॉर्म क्या है? 

KFC का फुल फॉर्म क्या है?

LED का फुल फॉर्म क्या है?

RCC का फुल फॉर्म क्या है?

Brics क्या है | Brics kay hai 

Brics में कुल पांच देश शामिल हैं ब्राजील, रसिया, इंडिया, ,चाइना, साउथ अफ्रीका इन्हीं पांचों देशों के नाम के पहले अक्षर से Brics बना है और Brics सम्मेलन हर साल होता है जिसमें इन पांचों देशों के राज्य अध्यक्ष भाग लेते हैं और भारत दो बार इस सम्मेलन को होस्ट कर चुका है 

पहली बार सन् 2012 में और दूसरी बार सन् 2016 और Brics का ग्रुप काफी मजबूत है जिसमें दुनिया की तीन सबसे बड़े देश भारत, रसिया, चाइना शामिल है लेकिन कोई भी पश्चिमी देश इस ग्रुप में शामिल नहीं है साउथ अफ्रीका देश का इस ग्रुप का हिस्सा बनने से पहले इस ग्रुप का नाम Bric था 

Bric ग्रुप के बनने का शुरुआत सन 2016 में ही सूरु हो गया था जब इन देशों के विदेश मंत्रियों ने हाई लेवल की मीटिंग करके Brics का ब्लूप्रिंट तैयार किया था और Bric के चार देशों की पहली मीटिंग सन 2009 में हुई और सन् 2011 साउथ अफ्रीका देश को इस ग्रुप में जोड़ने के बाद इस ग्रुप का नाम Brics हो गया ।

चाइना रसिया और इंडिया दुनिया के 3 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हैं तो वही ब्राजील लेटिल अमेरिका का मुख्य देश है और दूसरी ओर साउथ अफ्रीका, अफ्रीका कॉन्टिनेंट का मुख्य देश है Brics के इन पांच देशों की कुल अर्थव्यवस्था लगभग 16 खरब डॉलर की है 

और दुनिया कि पूरे GDP का 30% प्रतिशत हिस्सा इन्हीं पांच देशों का है और पूरे दुनिया में जितना भी व्यापार होता है उसका 30% व्यापार भी यही पांच देश करते हैं और दुनिया का 50% आबादी भी इन पांच देशों में बसी हैं और इसी लिए रीजनल और ग्लोबल मामलों में इन देशों का अपना प्रभाव है 

एवं Brics के इन पांच देशों का कुल विदेशी मुद्रा निवेश 4 खरब डॉलर का है Brics के मेंबर देशों का मुख्य कार्य ग्लोबल इकोनामी और  फाइनेंसियल स्थिति का सुधार करना है ताकि Brics के मेंबर देशों के अर्थव्यवस्था को बढ़ावा दिया जा सके और इसके लिए इन्होंने एक बैंक भी बनाया है

 जिसका नाम National deployment Bank है इसकी घोषणा भारत देश के ही सुझाव पर सन् 2014 में की गई थी इस बैंक का मुख्य कार्य किसी भी प्राइवेट प्रोजेक्ट को लोन या फिर हिस्सेदारी के पैसे देकर उस प्रोजेक्ट को पूरा करने में मदद करना है 

यह बैंक international organisations की मदद से इन प्रोजेक्ट को टेक्निकल सपोर्ट भी मुहैया करवाता है और इस बैंक का हेड क्वार्टर चाइना के शंघाई में है और इसके president भारत देश के K.V Kamat है लेकिन Brics के मेंबर देशों के आपसी भेद और कुछ परेशानियों के वजह से Brics के मुख्य मुद्दों पर पूरी तरह से काम नहीं हो पा रहा है 

विवाद एक नहीं है कई सारे है जैसे भारत और चाइना के बिच सीमा को लेकर विवाद है, चाइना और रसिया देश की नज़दीकियां को बढ़ने को लेकर इंडिया का एतराज है और वही चाइना और ब्राजील की बात करें तो चाइना के मुद्राओं को लेकर इन देशों के बीच विवाद है 

और दूसरे देशों को Brics में सामिल करने पर भी विवाद है और Brics के देशों में राजनीतिक सिस्टम के वजह से भी कुछ दूरियां है जैसे ब्राजील, भारत, और साउथ अफ्रीका में मजबूत लोकतांत्रिक व्यवस्था है तो वहीं चाइना में कमीयस सरकार है असहनशील है 

और कहीं ना कहीं इन देशों में मतभेद का कारण अमेरिका देश भी है क्योंकि Brics के मेंबर देशों के कुछ देश अमेरिका के साथ हैं तो कुछ देश अमेरिका के खिलाफ है कई अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चाइना और रसिया की राय अमेरिका के खिलाफ ही होती है जिससे विवाद पैदा होता था 

FAQ – People also ask 

Q.1 brics full form in hindi? 

— Brics ka full form hindi में कुल 5 देशों से मिलकर बना है BRAZIL, RUSSIA, INDIA, CHINA, SOUTH AFRICA.

Q.2 brics headquarters in hindi? 

— brics ka headquarters चाइना के शंघाई में है.

Q.3 वृक्ष में कुल कितने देश हैं? 

— वृक्ष में कुल 5 देश शामिल हैं.

Q.4 भारत वृक्ष में कब शामिल हुआ?  

— BRIC के बनने का सिलसिला साल 2006 से ही शुरू हो गया था.

Q.5 Brics में शामिल होने वाला अंतिम देश कौन सा है?

— Brics में शामिल होने वाला अंतिम देश का नाम साउथ अफ्रीका देश है.

Conclusion – Brics full form in hindi 

आज के इस आर्टिकल में हमने Brics के बारे में पूरे विस्तार से पढ़ा जैसे कि Brics kay hai, Brics Full Form In Hindi,भारत वृक्ष में कब शामिल हुआ?, वृक्ष में कुल कितने देश हैं? आदि ऐसे और भी Brics से रिलेटेड बहुत सारी जानकारियों के बारे में पढ़ा और हमें यह पूरी उम्मीद है 

कि आपने भी इस आर्टिकल को पूरा पढ़ा होगा और इस आर्टिकल को पूरा पढ़के आपको Brics के बारे में पूरी जानकारियां अच्छे से प्राप्त हो गई होंगी और अगर आप Brics या Brics full form in hindi से संबंधित और भी कुछ जानना चाहते हैं या इससे रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट में लिखकर जरूर बताएं धन्यवाद 

Leave a Comment