आरटीजीएस (RTGS) का फुल फॉर्म क्या है | RTGS full form in hindi

RTGS का फुल फॉर्म क्या है | RTGS full form in hindi

RTGS full form in hindi – आज के इस आर्टिकल में हम आरटीजीएस (RTGS)  के बारे में पढ़ेंगे क्योंकि बहुत से ऐसे लोग जिन्हें इसके बारे में कोई जानकारियां नहीं होती है लेकिन आरटीजीएस (RTGS) का नाम तब सुनने को मिलता जब कोई fund transaction एक बैंक से किसी दूसरे बैंक में करना होता है  

या पैसे लेन देन करना होता है तब बहुत से लोग RTGS का नाम सुनकर इसको नजरंदाज कर देते या फिर इसके बारे में समझ नहीं पाते हैं और क्या आपको भी इसके बारे में कोई जानकारियां नहीं है 

तो आइए जानते RTGS के बारे में पूरे बिस्तार से इन सब के बारे में हर उस व्यक्ति को जानकारी रखनी चाहिए जो अक्सर पैसा transaction करते रहते हैं इसलिए आज के इस आर्टिकल में हमने आप सब के लिए आरटीजीएस के बारे में पूरे बिस्तार से बताया है 

जैसे कि RTGS क्या होता है,RTGS full form in hindi, RTGS के माध्यम से फंड ट्रांसफर होने में कितना समय लगता है, RTGS के द्वारा ट्रांजैक्शन करने पर कितना चार्ज लगता है, ऐसे और भी RTGS से संबंधित बहुत सारी जानकारियों के बारे में जानकारियां दी गई है

आरटीजीएस (RTGS)  का फुल फॉर्म क्या है | RTGS full form in hindi 

RTGS ka full form या पूरा नाम “Real Time Gross sttlement” होता है जिसे हिन्दी में “रियल टाइम ग्रास सेटलमेंट” कहते हैं  

R – Real 

T – Time 

G – Gross 

S – Sttlement 

आरटीजीएस (RTGS) क्या होता है 

RTGS का मतलब “Real Time Gross sttlement” होता है यानी बैंकों के पैसों को individually और order-by-order के basis पर बिना netting के एक account से दुसरे account पर भेजा जाता है (RBI) Reserve Bank of India के द्वारा rtgs को कंडक्ट किया जाता है और rtgs के सारे ट्रांजैक्शन का डाटा (RBI) के पास स्टोर रहता है 

और पहले के समय में बैंकों के माध्यम से किसी एक बैंक से किसी दूसरे बैंक में पैसा ट्रांजैक्शन होने में 2-3 दिन का लगता है लेकिन rtgs के मदद से तुरंत fund एक बैंक से किसी दूसरे बैंक में ट्रांजैक्शन हो जाता है बिना किसी waiting period के आसानी से ट्रांजैक्शन हो जाता है 

और इसमें ट्रांजैक्शन के लिए पैसे भेजने के लिमिट की बात की जाए तो rtgs के मदद से बैंकों से कम से कम दो लाख रुपए से लेकर 10-20 लाख रुपए तक या उससे अधिक धनराशि ट्रांजैक्शन कर सकते हैं लेकिन बहुत से बैंकों के ब्रांचों में ट्रांजैक्शन लिमिट भी होती है तो उसके हिसाब से ही ट्रांजैक्शन कर सकते हैं 

आरटीजीएस (RTGS) के माध्यम से फंड ट्रांसफर होने में कितना समय लगता है 

आइए अब जानते हैं कि rtgs के माध्यम से fund ट्रांजैक्शन  में कितना समय लगता है पहले बैंकों के होलीडे के समय में rtgs के द्वारा ट्रांजैक्शन नहीं कर सकते थे लेकिन (RBI) के द्वारा इसमें से होलीडे के दिन भी ट्रांजैक्शन किया जा सकता है सन् 14 दिसंबर 2020 में इसे दिन के 24 घंटे सप्ताह के 7 दिन और साल के 365 दिन कभी भी आरटीजीएस के द्वारा ट्रांजैक्शन कर सकते हैं 

आरटीजीएस (RTGS) के द्वारा ट्रांजैक्शन करने पर कितना चार्ज लगता है 

पहले RTGS के द्वारा ट्रांजैक्शन करने पर RBI के द्वारा कुछ पैसों का चार्ज लगता था जैसे कि 5 लाख रुपए तक का ट्रांजैक्शन करने पर 25 रूपए का चार्ज लगता था और 10 लाख रुपए तक का ट्रांजैक्शन करने 50 रूपए तक चार्ज लगता था लेकिन RBI के द्वारा आरटीजीएस के द्वारा ट्रांजैक्शन करने पर चार्ज को हटा दिया गया है 

आरटीजीएस (RTGS) के माध्यम से ट्रांजैक्शन कैसे करें 

अब ऐसे बहुत से लोगों के मन यह सवाल आता है कि आरटीजीएस के माध्यम से ट्रांजैक्शन कैसे किया जाता है दोस्तों RTGS के माध्यम से दो तरह से ट्रांजैक्शन किऐ जाते हैं पहला है internet banking, online transaction के मदद से RTGS द्वारा ट्रांजैक्शन किया जाता है और दूसरा बैंक शाखाओं के द्वारा आरटीजीएस के माध्यम से ट्रांजैक्शन किया जाता है 

online आरटीजीएस (RTGS)  के द्वारा ट्रांजैक्शन 

आइए अब जानते हैं online method से internet banking का इस्तेमाल करके RTGS के द्वारा पैसे कैसे ट्रांजैक्शन करते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको जिस भी व्यक्ति के खाते में पैसा ट्रांजैक्शन करना है उसे Payee अथवा Beneficiary Customer के रूप में अपने Account में Add करना होता है 

जहाँ आपको उस customer के विषय में कुछ महत्त्वपूर्ण जानकारी प्रदान करनी होती है जैसे कि उस व्यक्ति का नाम और उसके बैंक एवं शाखा का नाम और उस व्यक्ति का खाता नंबर और IFSC code को भरना पड़ता है फिर उसके बाद Bank, उस Beneficiary की सारी Details को Check करता है 

और Bank को Beneficiary की Detail Check करने में लगभग 12-24 घंटें का समय लगता है Bank के द्वारा जब Checking Process पूरी तरह से Complete हो जाता है तब Bank के द्वारा Beneficiary Customer को Activate कर दिया जाता है जिसके बाद आप उस Beneficiary Customer को पैसे Transfer कर सकते हैं 

बैंक शाखाओं के माध्यम से RTGS के द्वारा ट्रांजैक्शन 

अगर आप बैंक शाखाओं के माध्यम से आरटीजीएस के द्वारा ट्रांजैक्शन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको Cheque Deposit Slip की तरह एक Instruction Slip Fill करके Deposit अपने बैंक शाखा में जमा करना होता है 

जिसके बाद बैंक उस Instruction Slip में भरी गई सारी जानकारियां को अपने Central Processing System में Feed करने के बाद RBI को Send कर दी जाती है फिर उसके बाद RBI  Transaction को Process करके Complete करता है 

और पैसे भेजने वाले Bank के Account से जितना पैसा भेजना होता है उतना पैसा Debit करके जिस Bank को RTGS किया गया है उसके Account में उतना पैसा Credit कर देता है. 

आरटीजीएस (RTGS)  के द्वारा ट्रांजैक्शन करने के फायदे  

rtgs ट्रांजेक्शन के बारे में इतना कुछ तो जान गए आइए अब जानते हैं इसे इस्तेमाल करने के फायदे क्या क्या है

  • आरटीजीएस (RTGS)  से बहुत तेज ट्रांजेक्शन होता है और यह बहुत ही सुरक्षित होता है 
  • और इसके द्वारा पैसा ट्रांजैक्शन करने पर लगभग 30 मिनट के अंदर पैसा एक खाते से दूसरे खाते में ट्रांसफर हो जाता है
  • और आरटीजीएस के द्वारा high value transactions बहुत आसानी से किया जाता सकता है
  • आरटीजीएस (RTGS)  बहुत ही Safe और secure होता है क्योंकि इसे RBI के द्वारा मैनेजमेंट किया जाता है 

FAQ- लोगों द्वारा पूछे गए अन्य सवाल 

Q.1- RTGS क्या होता है और कैसे काम करता है?

–RTGS “Real Time Gross sttlement” होता है जिसका इस्तेमाल किसी एक बैंक से दूूूसरे बैंक में पैसे को ट्रांजेक्शन करने के काम आता है 

Q.2- RTGS se कितना पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं? 

आरटीजीएस की मदद से किसी एक बैंक से किसी दूसरे बैंक में कम से कम 2 लाख रुपए से लेकर इसकी कोई maximum limit नहीं है 

conclusion – RTGS full form in hindi

आज के इस आर्टिकल में हमने आरटीजीएस (RTGS)  के बारे में अच्छे से पढ़ा जैसे कि RTGS क्या होता है,RTGS full form in hindi, RTGS के माध्यम से फंड ट्रांसफर होने में कितना समय लगता है, RTGS के द्वारा ट्रांजैक्शन करने पर कितना चार्ज लगता है , RTGS के माध्यम से ट्रांजैक्शन कैसे करें, आरटीजीएस के द्वारा ट्रांजैक्शन करने के फायदे ऐसे और भी आरटीजीएस से रिलेटेड 
जानकारियों के बारे में हमने इस आर्टिकल में पढा और हमें उम्मीद है कि आपने इस आर्टिकल को पूरा अच्छे से पढ़ा होगा और इस आर्टिकल को पढ़ के आप आरटीजीएस के बारे में अच्छे से जान गए होंगे और अगर आप इससे संबंधित और भी कुछ जानना चाहते हैं या आरटीजीएस (RTGS)  से रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट में लिखकर जरूर बताएं धन्यवाद।

Leave a Comment